GUNJAN OJHA

GUNJAN OJHA
  • Post category:Story
  • Post comments:0 Comments

Amisha Nagda

बदलता दौर- शहादत का

वह शम्मा आज भी जलती है, देश प्रेम की आग हर मन मेंउठती है!

इततहास के पन्नोंकन जब पलटा,
एहसास देश प्रेम का मन मेंउठा,
जज्बा आज का नही बरसनोंपुराना है,
तब की मशाल, आज फाइटर प्लेन का जमाना है!
वह शम्मा आज भी जलती है,देश प्रेम की ज्वाला हर मन मेंउठती है!
क्या खूब लडेथेवह दुश्मन से,जन पराई धरती सेआए थे,
बुलोंद थेइरादेउनके, त ोंगारी वन देश रक्षा की लगाए थे,
कनई झुका ना पाया उनका सर, गववसेफाोंसी पर लटके थे,
जज्बा था ही ऐसा, भगत सुखदेव राजगुरु नाम अमर कर गए थे!
वह शम्मा आज भी जलती है, देश प्रेम की आग हर मन मेंउठती है
समय नेकै सा क्र हैबदला,अब दुश्मन घर का ही तनकला,
कै सेलडा जाए उनसे, तजनसेहैएक देश का ररश्ता,
एक घर का त राग दू सरेघर का दीप बुझा जाता ,
यह खूनी मोंजर देश कन आस ना आता!

सवोपरर हैदेश रक्षा तजसके ,हर प्रत्यक्ष -अप्रत्यक्ष दुश्मन सेवह लड जाता ,
शूरवीर सैतनक हैवह भारतीय, गाथा हैतजसकी वीरता!
वह शम्मा आज भी जलती है,देश प्रेम की ज्वाला हर मन मेंउठती है!
पररवार सेपहलेदेश रखता ,ऐसा भारत का वीर बैठा है,
हर मुसीबत पर देश पुकारता, ऐसा वीर सपूत पर भरनसा है;
बाढ़ के जल सैलाब में, हर नागररक कन पररवार समझ ब ाता है,
देश पर उठनेवालेगनली बारूद कन छाती सेलगा लेता है;
वह नक्सतलयनोंकन सबक तसखाता, आतोंतकयनोंकन मौत के घाट उतार देता है,
वह देश का सपूत शहीद नही ों, देश कन समतपवत हन जाता है!
समय आगेबढ़ जाता ,पर वह देश प्रेम आज भी तदल मेंपनपता है
वह भारत का गौरव , भारत का वीर बेटा है!!

जय  होंद!!

~अमीषा नागदा

Share this story

Amisha's Poem

Liked the article? Share it now!

Leave a Reply